लम्बे यात्रा वृत्तांत

लम्बी यात्रा करने का अपना ही आनन्द है। लेकिन उसमे लिखने के लिए काफी कुछ होता है इसलिए वो एक पोस्ट में आ नहीं पाती हैं। इसलिए सोचा ये पृष्ठ बनाऊँ जिसमे लम्बी यात्राओं के लिंक सूचीबद्ध हों ताकि जैसे यात्रा करी वैसे आप इन्हें पढ़ सकें।

मैकलॉडगंज ट्रिप 
  1. मैकलॉडगंज ट्रिप #1 - गुडगाँव- मैकलॉडगंज
  2. मैकलॉडगंज ट्रिप #2 - त्रिउण्ड ट्रेक
  3. मैकलॉडगंज ट्रिप #3 - धर्मशाला,आसपास का इलाका
  4. मैकलॉडगंज ट्रिप #4 - मैकलॉडगंज
 माउंट आबू फैन मीट 
  1. माउंट आबू मीट #१: शुक्रवार का सफ़र
  2. माउंट आबू मीट #२ : उदयपुर से होटल सवेरा तक
  3. माउंट आबू  #3 (शनिवार): नक्की झील, टोड रोक और बोटिंग
  4. माउंट आबू #4: सनसेट पॉइंट, वैली वाक  
  5. माउंट आबू मीट #5: रात की महफ़िल 
  6. माउंट आबू मीट #6 : अचलेश्वर महादेव मंदिर और आस पास के पॉइंट्स
  7. माउंट आबू #7:गुरुशिखर
  8. माउंट आबू मीट #8: दिलवाड़ा के मंदिर, होटल में वापसी,दाल बाटी  की पार्टी 
  9. माउंट आबू मीट #9: होटल भाग्यलक्ष्मी और वापसी के ट्रेन का सफ़र

 कानपुर फैन मीट

  1. कानपुर मीट #१:शुक्रवार - स्टेशन रे स्टेशन बहुते कंफ्यूज़न
  2. कानपुर मीट #२: आ गये भैया कानपुर नगरीया
  3. कानपुर मीट #3: होटल में पदार्पण, एसएमपियंस से भेंट और ब्रह्मावर्त घाट
  4. कानपूर मीट #4
  5. कानपुर मीट # 5 : शाम की महफ़िल
  6. कानपुर मीट #6 : ब्लू वर्ल्ड वाटर पार्क और वापसी

 फूलों की घाटी (14-21 जुलाई 2017 के बीच की गई)

ग्वालियर भ्रमण (तीन नवम्बर 2017 से चार नवम्बर 2017 )

 नीलकंठ महादेव ट्रेक(19 - 20 जनवरी 2018 के बीच की गई)

  1. नीलकण्ठ ट्रेक #१ : दिल्ली से रामझूला
  2. नीलकंठ महादेव ट्रेक #२ : रामझूला से नीलकंठ महादेव मंदिर और वापसी-भाग १
  3. नीलकंठ महादेव ट्रेक #२ : रामझूला से नीलकंठ महादेव मंदिर और वापसी-भाग २
झाँसी ओरछा की घुमक्कड़ी (2 दिसम्बर 2018  की शाम से 3 दिसम्बर 2018  की सुबह तक )
जोधपुर जैसलमेर की घुमक्क्ड़ी (28/12/2018 से 01/01/2019)
  1. जोधपुर जैसलमेर की घुम्मकड़ी 1 : गुरुग्राम से सराय रोहिल्ला 
  2. जोधपुर जैसलमेर की घुम्मकड़ी 2 : जोधपुर से जैसलमेर 
  3. जोधपुर जैसलमेर की घुम्मकड़ी 3 : जैसलमेर से कुलधरा की तरफ 
  4. जोधपुर जैसलमेर की घुम्मकड़ी 4 : कुलधरा और खाबा किला
  5. जोधपुर जैसलमेर की घुम्मकड़ी 5 : अज्ञात गाँव,एक राष्ट्रीय उद्यान की तलाश, सम के टीले, चाय के घूँट और रात का आराम
 कौसानी (5 से 8 दिसंबर 2019 के बीच की गयी)

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

आपकी टिपण्णियाँ मुझे और अच्छा लिखने के लिए प्रेरित करेंगी इसलिए हो सके तो पोस्ट के ऊपर अपने विचारों से मुझे जरूर अवगत करवाईयेगा।

लोकप्रिय पोस्ट्स