कहानी

लेख

घूम-घाम

नयी पोस्ट्स

रविवार, 9 मई 2021

प्रकृति ने अपनी झोली से इतनी सुंदर चीजें बिखेरी हैं कि उन्हें देख कर मन प्रफुल्लित हो जाता है। ये रंग बिरंगे फूल, ये हरे भरे पहाड़, ये नदियाँ, और ये झरने आप देखो तो आपका मन मोह लेते हैं। झरनों के प्रति मेरा विशेष आकर्षण रहा है। ऊँचाई से गिरता पानी खूबसूरत तो लगता ही है लेकिन यह आपको प्रकृति की शक्ति…

बुधवार, 5 मई 2021

छत्तीसगढ़ के ब्रजेश शर्मा लेखक हैं। वह अजिंक्य शर्मा के नाम से अपराध और हॉरर साहित्य लिखते हैं। उनके उपन्यास किंडल पर प्रकाशित होते रहे हैं। आज दुई बात पर पढ़िए उनके द्वारा लिखा गया एक हास्य लेख। उम्मीद है जो वक्त चल रहा है उसमें यह आपके चेहरे पर एक मुस्कान लाने में कामयाब हो पायेगा। ब्रजेश शर्मा का व…

गुरुवार, 29 अप्रैल 2021

'द आईज हेव इट' विज्ञान गल्प लेखक फिलिप के डिक की लिखी एक लघु-कथा है। यह लघु-कथा सर्व प्रथम साइंस फिक्शन स्टोरीज नामक पत्रिका में 1953 में प्रकाशित हुई थी।   आज दुईबात में पढ़िए फिलिप के डिक की कहानी द आईज हेव इट का हिन्दी अनुवाद वो आँखें। उम्मीद है कहानी और अनुवाद आपको पसंद आएगा। मूल कहानी आप …

शनिवार, 20 मार्च 2021

अटल पैन्यूली युवा कवि और कथाकार हैं। वह फिलहाल बी एड की पढ़ाई कर रहे हैं। दुई बात में आज पढ़िए अटल पैन्यूली की कविता 'मैं हिमालय बोल रहा हूँ'।

लोकप्रिय पोस्ट्स