एक शाम तथा अन्य रचनाएँ

'एक शाम तथा अन्य रचनाएँ' मेरा पहला रचना संग्रह है। इस संग्रह में मेरी कुल 28 रचनाएँ संकलित हैं। इन रचनाओं में उन्नीस लघु-कथाएँ (500-1000 शब्दों की) हैं और नौ कवितायेँ हैं। 

इन रचनाओं को पहले मैंने इन्टरनेट में इधर उधर डाला था लेकिन फिर बाद में एकत्रित करके एक पुस्तक के रूप में किंडल में प्रकाशित कर दिया। 

यह रचनाएँ निम्न हैं:

लघु-कथाएँ

  1. झिझक 
  2. सवाल 
  3. डर 
  4. हत्या 
  5. चाँद या सूरज और धुँआ 
  6. देशप्रेमी 
  7. गौभक्त 
  8. बदलाव 
  9. स्वप्न 
  10. कोहरा 
  11. ज़हरखुरानी 
  12. प्रेम और पेग 
  13. कहानी  
  14. चालान 
  15. एक शाम  
  16. न बदलने का सुख 
  17. फैसला 
  18. मिसएडवेंचर ऑफ़ तोताराम 
  19.  स्टेशन

                                    कवितायें:

                                    1. ख्याल 
                                    2. अँधेरी रात 
                                    3. मैं और वो 
                                    4. शब्द 
                                    5. बस तुम्हारे लिए 
                                    6. टूट टूट कर बार-बार मैं बनता रहा हूँ, 
                                    7. ज़िन्दगी और कोडिंग 
                                    8. नियति 
                                    9. क्यों पढ़ते हो? 
                                    रचना संग्रह किंडल पर खरीदा जा सकता है। अगर आपके पास किंडल अनलिमिटेड का सबस्क्रिपशन है तो आप इसे बिना किसी अतिरिक्त शुल्क दिये भी पढ़ सकते हैं:
                                    किंडल

                                    © विकास नैनवाल 'अंजान'

                                                  Post a Comment

                                                  आपकी टिपण्णियाँ मुझे और अच्छा लिखने के लिए प्रेरित करेंगी इसलिए हो सके तो पोस्ट के ऊपर अपने विचारों से मुझे जरूर अवगत करवाईयेगा।