साहित्य विमर्श प्रकाशन रचनाएँ आमंत्रित करता है


नोट: साहित्य विमर्श की टीम में जब जुड़ा तो मन में था कि कुछ अलग करूँगा। कुछ कार्य पिछले साल किए और कुछ कार्य इस साल करने की सोची है। इसी कड़ी में यह पहला प्रोजेक्ट शुरू किया है। देखते हैं क्या रंग लाता है। ऐसे की प्रोजेक्ट्स इस साल लाऊँगा और उसकी जानकारी यहाँ देता रहूँगा। टीम का आभारी हूँ कि उन्होंने इतनी स्वतंत्रता मुझे दी है।  

 

Image by OpenClipart-Vectors from Pixabay


अगर आप उत्तराखण्ड से सम्बन्धित उपन्यास (40000 शब्द से अधिक की रचना) या लघु-उपन्यास (20-30 हज़ार शब्द की रचना) या कहानियाँ प्रकाशित करवाना चाहते हैं तो आप अपनी रचनाएँ साहित्य विमर्श प्रकाशन को भेज सकते हैं। रचना पसन्द आने पर निशुल्क प्रकाशित की जाएगी। 

उपन्यास के लिए आप 1000 शब्दो में उपन्यास का सार और 5000 शब्दों का अंश, कहानियों के लिए कुछ कहानियाँ ताकि शैली का पता लग सके और लघु-उपन्यास (कम से कम 2 ताकि उन्हें एक ही जिल्द में प्रकाशित किया जा सके) के लिए 1000 शब्द में प्रत्येक  लघु-उपन्यास का सार और उसका 3000 शब्द का अंश निम्न मेल आई डी पर प्रेषित कर सकते हैं। 

editor@sahityavimarsh.in


रचना की भाषा: हिन्दी/अंग्रेजी (फिलहाल)


(आगे जाकर उत्तराखंडी भाषाओं में प्रकाशित करने की योजना है।)

साहित्य विमर्श प्रकाशन के विषय में अधिक जानकारी आप वेबसाइट से भी प्राप्त कर सकते हैं:

वेबसाईट लिंक: http://sahityavimarsh.in/


नोट: अगर आपकी रचनाएँ उत्तराखण्ड से संबंधित नहीं भी हैं तो भी आप साहित्य विमर्श को अपनी रचनायें भेज सकते हैं। टीम के बाकी सदस्य उन्हें देख लेंगे।


2 टिप्पणियाँ

आपकी टिपण्णियाँ मुझे और अच्छा लिखने के लिए प्रेरित करेंगी इसलिए हो सके तो पोस्ट के ऊपर अपने विचारों से मुझे जरूर अवगत करवाईयेगा।

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिपण्णियाँ मुझे और अच्छा लिखने के लिए प्रेरित करेंगी इसलिए हो सके तो पोस्ट के ऊपर अपने विचारों से मुझे जरूर अवगत करवाईयेगा।

और नया पुराने