बुधवार, 1 जुलाई 2020

कोहरे से झाँकती धूप

पौड़ी

कोहरे से झाँकती 
यह धूप
दिलाती है याद मुझे तुम्हारी

तुम भी तो आई हो जीवन में मेरे
कुछ इसी तरह

लेकर साथ अपने 
खुशी, उम्मीद और सुकून

©विकास नैनवाल 'अंजान'

2 टिप्‍पणियां:

आपकी टिपण्णियाँ मुझे और अच्छा लिखने के लिए प्रेरित करेंगी इसलिए हो सके तो पोस्ट के ऊपर अपने विचारों से मुझे जरूर अवगत करवाईयेगा।

लोकप्रिय पोस्ट्स