प्रेम

Image by Dariusz Sankowski from Pixabay


प्रेम,
होता है,
फिर होता है,
होता ही जाता है..
एक से दूसरे पर...
फिर दूसरे से तीसरे पर होती आसक्ति,
करती है से उसे हैरान,परेशान, वीरान

© विकास नैनवाल 'अंजान'


4 टिप्पणियाँ

आपकी टिपण्णियाँ मुझे और अच्छा लिखने के लिए प्रेरित करेंगी इसलिए हो सके तो पोस्ट के ऊपर अपने विचारों से मुझे जरूर अवगत करवाईयेगा।

  1. फिर ये प्रेम नही फ्लर्ट कहलाता है😂

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. हम्म... लेकिन ये एक साथ नहीं हो रहा है.... एक के बाद एक हो रहा है...पहले वाला मर जाता है और दूसरे वाला जन्म लेता है.....

      हटाएं

एक टिप्पणी भेजें

आपकी टिपण्णियाँ मुझे और अच्छा लिखने के लिए प्रेरित करेंगी इसलिए हो सके तो पोस्ट के ऊपर अपने विचारों से मुझे जरूर अवगत करवाईयेगा।

और नया पुराने